- Advertisement -
Farming NewsTop 5 Pea Varieties: मटर की टॉप 5 किस्में होगी लाखों की...

Top 5 Pea Varieties: मटर की टॉप 5 किस्में होगी लाखों की कमाई जाने

Top 5 Pea Varieties: मटर की टॉप 5 किस्में होगी लाखों की कमाई जाने भारत में कृषि एक महत्वपूर्ण विभाग है और सब्जियों का उत्पादन इसका महत्वपूर्ण हिस्सा है। मटर जो हमारी रोजमर्रा की जीवन में बड़ा हिस्सा बन चुका है, विशेष रूप से भारतीय का महत्वपूर्ण हिस्सा है। इस लेख में हम आपको मटर की 5 टॉप किस्मों के बारे में बताएंगे, जो आपको रबी सीजन से पहले लाखों की कमाई का मौका देती हैं।

मटर की 5 टॉप किस्में Top 5 Pea Varieties

1. काशी नंदिनी

  • विकासक: भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान, वाराणसी
  • पौधे की लम्बाई: 45-50 सेमी
  • पहला फूल: बुआई के लगभग 30 दिन बाद
  • हरी फलियों का उपयोग: सब्जी
  • औसत हरी फलियों की उपज: 30-32 क्विंटल प्रति एकड़
  • औसत बीज उपज: 5-6 क्विंटल प्रति एकड़

2. काशी उदय

  • विकासक: भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान, वाराणसी
  • पौधे की लम्बाई: 58-62 सेमी
  • पहला फूल: बुआई के 35 दिन बाद
  • हरी फलियों का उपयोग: सब्जी
  • औसत हरी फलियों की उपज: 35-40 क्विंटल प्रति एकड़
  • औसत बीज उपज: 5-5.5 क्विंटल प्रति एकड़

3. काशी अगेती

  • विकासक: भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान, वाराणसी
  • पौधे की लम्बाई: 50 सेमी
  • पहला फूल: बुआई के 30-35 दिन बाद
  • हरी फलियों का उपयोग: सब्जी
  • औसत हरी फलियों की उपज: 45-50 प्रति एकड़

4. काशी मुक्ति

  • विकासक: भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान, वाराणसी
  • पौधे की लम्बाई: 45-50 सेमी
  • पहला फूल: बुआई के 40 दिन बाद
  • हरी फलियों का उपयोग: सब्जी
  • औसत हरी फलियों की उपज: 50 कुंतल प्रति एकड़
  • औसत बीज उपज: 6-6.5 क्विंटल प्रति एकड़

5. अर्केल मटर

  • विकासक: फ्रांस
  • पौधे की लम्बाई: 45-50 सेमी
  • पहला फूल: बुआई के 60-65 दिन बाद
  • हरी फलियों का उपयोग: सब्जी
  • औसत हरी फलियों की उपज: 40-50 कुंतल प्रति एकड़

कैसे प्राप्त करें सब्जी मटर के बीज? आप इन उन्नत किस्मों के बीज भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान, वाराणसी से प्राप्त कर सकते हैं, या ऑनलाइन बीज पोर्टल के माध्यम से भी घर बैठे ऑर्डर कर सकते हैं। इसके लिए आप भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान वाराणसी के बीज पोर्टल वेबसाइट के माध्यम से अपनी पसंद के बीज ऑर्डर कर सकते हैं या आप अपने नजदीकी कृषि केंद्र या नजदीकी कृषि विश्वविद्यालय के बीज विभाग से संपर्क करके बीज प्राप्त कर सकते हैं।

इन उन्नत मटर की किस्मों के बीज का उपयोग करके, आप अच्छी पैदावार प्राप्त कर सकते हैं और रबी सीजन से पहले लाखों की कमाई कर सकते हैं। इन किस्मों की खेती आपको बेहतर उपज और अधिक लाभ दिला सकती है, इसलिए आपको इन्हें जरूर आजमानी चाहिए।

आपकी बुआई के समय और उपज की भूमि की श्रेणी को ध्यान में रखते हुए, उपयुक्त किस्म का चयन करें ताकि आपके क्षेत्र में सबसे अच्छी प्राप्ति हो सके। यह था मटर की इन 5 टॉप किस्मों के बारे में एक जानकारीपूर्ण लेख।

आपको अब यह बात पता चल गई है कि किस तरह से मटर के उत्पादन को बढ़ा सकते हैं और खेती से अधिक लाभ कमा सकते हैं। इन उन्नत किस्मों के बीज का अच्छी तरह से देखभाल करें और बेहतर प्राप्ति की दिशा में कदम बढ़ाएं।

यह भी पढ़े : –भारतीय सोयाबीन अनुसंधान संस्थान ने लागातार बारिश को देखते हुए कृषको को जारी की नई सलाह

यह भी पढ़े :-CM Transformer Scheme 2023: मुख्यमंत्री ने जारी की नयी ट्रांसफार्मर अनुदान योजना ऐसे उठाये इस योजना का लाभ

Exclusive content

- Advertisement -

Latest article

More article

- Advertisement -